द केरल स्टोरी: ​तमिलनाडु में ‘जीरो’,दूसरे राज्यों में बनी ‘हीरो’

0
185

भोपाल। कम बजट में बनी फिल्में भी कमाल कर सकती हैं। ऐसा ही कर के दिखाया है साउथ एक्ट्रेस अदा शर्मा की फिल्म द केरल स्टोरी ने। फिल्म रिलीज के पहले से ही विवादों में थी। इसे लेकर काफी विरोध देखने को मिला लेकिन इसके बाद भी इस फिल्म ने रिलीज के बाद अच्छी कमाई कर ली है। देशभर में इस फिल्म को रिलीज किया गया है।

अधिकांश राज्यों में इस फिल्म का स्वागत किया गया लेकिन केरल में इस फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन की वजह से इसकी स्क्रीनिंग को रोक दिया गया है। फिल्म कि रिलीज के दौरान इसे केरल की 50 स्क्रीन्स पर रिलीज होने की बात कही गई थी। लेकिन विरोध प्रदर्शन को देखते हुए इस फिल्म को सिर्फ 17 स्क्रीन्स पर रिलीज किया गया। लेकिन विरोध प्रदर्शन रुका नहीं,फिल्म ने भी केरल में कुछ खास कमाई नहीं की।

चेन्नई में रोकी स्क्रीनिंग

इसके अलावा तमिलनाडु में इसे लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन को भी देखते फिल्म की स्क्रीनिंग को चेन्नई में 2 दिन में ही बंद कर दिया गया है। फिल्म की स्क्रीनिंग अब चेन्नई में कहीं पर भी नहीं हो रही लेकिन इसका फिल्म की कमाई पर कुछ खास असर नहीं पड़ा है. फिल्म ने दूसरे दिन इसके ओपनिंग डे से ज्यादा कमाई की है।

पहले दिन 8 करोड़ की कमाई
फिल्म ने ओपनिंग-डे पर 8 करोड़ की कमाई की थी। इसके बाद फिल्म ने रिलीज के दूसरे दिन 11.22 करोड़ की कमाई की। इस लिहाज से फिल्म ने दो दिनों में करीब 20 करोड़ की कमाई कर ली। साथ ही फिल्म ने द कश्मीर फाइल्स के ओपनिंग डे बॉक्स ऑफिस कलेक्शन को भी पीछे छोड़ दिया। फिल्म को पहले से ही मध्यप्रदेश में टैक्स फ्री कर दिया गया है और अब इसे अन्य राज्यों में भी टैक्स फ्री करने की तैयारी है।

मुफ्त में दिखा रहे हैं फिल्म
इधर,मप्र में फिल्म को लेकर खासा उत्साह देखा जा रहा है। कई संगठन,संस्थाएं अपने खर्च पर लोगों का यह फिल्म दिखा रहे हैं। फिल्म केरला स्टोरी रिलीज के बाद से ही लगातार चर्चा में बनी हुई है। देश के कोने-कोने से फिल्म को खूब सराहा जा रहा है।

रविवार को भोपाल की हुजूर विधानसभा के विधायक रामेश्वर शर्मा ने 100 से अधिक बहनों के साथ कोलार के DDX Cinema में यह फिल्म देखी। इस दौरान विधायक के साथ आईं बहनें फिल्म देखकर भावुक हो उठीं।

दरअसल केरल में आतंकवाद और लव-जिहाद के एजेंडे पर बनीं यह फिल्म केरल में इस्लामिक आततायियों द्वारा हिन्दू और क्रिश्चियन लड़कियों को गुमराह कर अगवा करने और फिर बाद में उन्हें मानव बम की तरह प्रयोग करने के काले सच को उजागर करती है।

 यह सच बयान कर रही हैं फिल्में

फिल्म देखने के बाद विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि आजादी के बाद भी आज देश में बेटियां सुरक्षित नहीं है, कश्मीर फाइल्स और केरला स्टोरी जैसी फिल्में यह सच बयान कर रही हैं। अनेकों शक्तियां हमारी बहन बेटियों को खत्म करने में लगी हुई हैं।

इस्लामिक आतंकी और उनके सरगना मासूम हिन्दू बेटियों को निशाना बनाकर उन्हें लव-जिहाद के चक्रव्यूह में फसाते हैं। फिर उनसे निकाह कर उन्हें अपने साथ ले जाकर उनके साथ अत्याचार करते हैं।

उन्हें गुलाम बनाकर रखते हैं। उनका धर्म परिवर्तन कराकर उन्हें जबरन इस्लाम कुबूल कराते हैं। यदि बेटियां धर्म परिवर्तन के लिए नहीं मानतीं तो उन्हें टुकड़ों में बांटकर सूटकेस में बंद कर फेंक आते हैं। इतना ही नहीं उन्हें दूसरे देशों में ले जाकर जबरन आतंकवाद के दलदल में फेंक देते हैं।

ये सब अब बंद होना चाहिए

विधायक रामेश्वर शर्मा ने आगे कहा कि आखिर कब तक हमारी बेटियों ऐसे इस्लामिक भेड़ियों का शिकार बनती रहेंगी। आखिर कब तक उनके माता-पिता अपनी बेटी की लाश से भरे सूटकेस खोलते रहेंगे। ये सब अब बंद होना चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि हमारी बेटियों को ऐसी फिल्मों के माध्यम से जागरूक किया जाए।

उन्हें बताया जाए कि तुम्हारे सच्चे हितैषी केवल तुम्हारे माता-पिता हैं। इसलिए हमारी बेटियां ये प्रण लें कि जिस घर में उन्होंने जन्म लिया, उसी घर से उनकी डोली उठेगी। राजधानी की कुछ अन्य संस्थाओं ने भी फिल्म दिखाने कुछ इसी तरह के इंतजाम किए। इधर,छिंदवाड़ा में जिला भाजपा लोगों को यह फिल्म दिखाएगी। 10 मई के शो के टिकट जिला भाजपा कार्यालय में मिलेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here