घर में बनाएं किफायती स्वादिष्ट श्रीखंड, दिल खोलकर खाएं,बेहतर स्वास्थ्य के लिए है गुणों की खान

0
707

“श्रीखंड पारंपरिक गुजराती और मराठी व्यंजन है। इसे गर्मियों के दिन खाया जाना सही माना गया है। श्रीखंड स्वादिष्ट होने के साथ- साथ स्वस्थ के लिए फायदेमंद भी है। इसमें प्रोटीन, कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स की प्रचुर मात्रा होती है। जो सेहत के लिए फायदेमंद है। ”                     ****** ज्योति अवस्थी

परिवार बड़ा है तो महंगाई के इस दौर में बाजार से लाई गई चीज बहुत किफायत के साथ बांट कर खानी पड़ती है।

बात गर्मी के डेजर्ट श्रीखंड की हो तो मुंह में पानी लाने वाली इस मिठाई को दिल खोलकर खाने की तमन्ना कई बार अधूरी रह जाती है। अब,जो चीज घर में बनाना सस्ता व आसान हो उसके लिए बाजार में ज्यादा पैसे क्यों दिए जाएं?

क्यों हसरत को दबाया जाए? जी हां ,पहले हम आपको बताएंगे कि श्रीखंड है क्या ?  भारत के किन राज्यों की यह मनपसंद डिश है?

क्या है श्रीखंड ?
ऐसा कहा जाता है कि श्रीखंड शब्द संस्कृत के शब्द कंडेंस्ड मिल्क (‘क्षीरा’) और मीठे के लिए फारसी शब्द ‘कंद’ से आया है।

यह एक साधारण दही आधारित मीठा व्यंजन है जिसमें केसर, सूखे मेवे और मेवे मिलाए जाते हैं।

मेवे न भी हों तो बिना इनके भी स्वादिष्ट श्रीखंड बनाया जा सकता है। दरअसल,श्रीखंड पारंपरिक गुजराती और मराठी व्यंजन है। इसे गर्मियों के दिन खाया जाना सही माना गया है। इसे लोग सुबह के खाने के बाद और रात के खाने के बाद लेना पसंद करते है और यह लोकप्रिय भी है। यह व्रत एवं उपवास में भी उपयोगी है। चाय की जगह श्रीखंड का सेवन ज्यादा उपयोगी व सेहत बनाने वाला है।

श्रीखंड खाने का सही समय
श्रीखंड पारंपरिक गुजराती और मराठी व्यंजन है। इसे गर्मियों के दिन खाया जाना सही माना गया है। इसे लोग सुबह के खाने के बाद और रात के खाने के बाद लेना पसंद करते है और यह लोकप्रिय भी है।

श्रीखंड को कुछ लोग पूरी या पराठे के साथ भी खाना पसंद करते है। वैसे आप इसे कभी भी खा सकते है इसके लिए कोई खास दिन नही होता है।

इसे पेय पदार्थ और मीठे के रूप में भी नाश्ते में लिया जा सकता है।

बनाने की आवश्यक सामग्री
स्वादिष्ट श्रीखंड बनाने के लिए कुछ सामग्री की आवश्यकता होती है। जिसे बनाने से पहले तैयार करके रखना होता है जो निम्न हैं —

1 किलो दही
3 चम्मच मलाई (जरूरी नहीं है)
— कटे हुए काजू, बादाम, पिस्ता
— इलायची पाउडर
— गुलाब जल
— 5 चम्मच पिसी हुई चीनी
— केसर

  • कुछ लोग स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें जायफल की मामूली मात्रा भी मिलते हैं। जायफल यूँ भी औषधि का काम करता है।

(यहां बता दें कि उक्त अतिरिक्त सामग्रियां स्वाद व पौष्टिकता बढ़ाने  के लिए हैं। इनके बिना भी श्रीखंड सिर्फ दही व शक्कर  से बनाया जा सकता है। दही बाजार से खरीदना महंगा लगे तो दही घर में ही तैयार किया जा सकता है।

इस तरह,घर में आप श्रीखंड बमुश्किल 100 – 125 रुपए में 1 से 1. 5  किग्रा तक बना सकते हैं .जबकि इतना ही श्री खंड बाजार में आपको 400  – 500 रुपए तक में मिलेगा।)

यह भी पढ़ें : स्वाद में लाजवाब चिकनाई रहित रोस्टेड चटपटे अप्पे ,एसीडिटी से भी करें बचाव click

श्रीखंड बनाने की विधि
सबसे पहले एक बड़े बर्तन के ऊपर छन्नी रखनी है और फिर उसके ऊपर एक साफ सूती या मलमल का कपड़ा लगा देना है। अब दही को छन्नी सहित लगे कपड़े के ऊपर अच्छी तरह निकालना है।

दही निकलने के बाद दही को कपड़े से इस प्रकार बाद देना है कि दही से पानी निकल जाएं।
6 से 7 घंटो के लिए दही को बांध कर छोड़ दें ,ताकि दही का पूरा पानी अच्छी तरह निकल जाए।

बेहतर हो कि  रात में यह प्रक्रिया करें ताकि सुबह तक इसका समूचा पानी निथर जाए।

पूरी तरह पानी निकलने के बाद दही एक कटोरी में निकाल ले। ये अब पूरी तरह गाढ़ा हो चुका होगा। इस दही को सूती कपड़े पर या मैदा छानने की छन्नी से छान लें। दोनों ही प्रक्रिया में दही को हथेली से मसलते हुए छानना होगा।

अब इसमें गुलाब जल की कुछ बूंदों को स्वाद के लिए डाला जा सकता है।अब केसर, इलायची, कटा हुआ बादाम, काजू, पिस्ता इत्यादि को मिला कर अच्छी तरह कुछ देर तक फेटे। इसे ठंडा करने के लिए फ्रिज में रख दें। अब स्वादिष्ट श्रीखंड सर्व करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

यह भी पढ़ें : स्वाद में लाजवाब चिकनाई रहित रोस्टेड चटपटे अप्पे ,एसीडिटी से भी करें बचाव click

श्रीखंड के क्या-क्या फायदे?

श्रीखंड के ऐसे बहुत से फायदे है जो हमारे शरीर के लिए लाभकारी है।

सबसे पहले तो श्रीखंड से दही से बनता है और उसमें ड्राई फ्रूट्स को भी डाला जाता हैं।

अगर आप श्रीखंड का सेवन कर रहे है या करने की सोच रहे है तो आपको इसके फायदे भी अवश्य जान लेने चाहिए।

1.श्रीखंड दही से बना होता है तो इसमें कैल्शियम की मात्रा भरपूर मात्रा में पायी जाती है। यह  हमारे हड्डियों तथा दांतों को मजबूत बनाता है ।

2.अगर आपकी इम्यूनिटी काफी वीक  है यानी आपको आए दिन बुखार या सर्दी खासी होते रहते हैं  तो श्रीखंड का रोजाना सेवन करने से आपकी इम्यूनिटी काफी अच्छी हो जाएगी।

3.श्रीखंड का सेवन आप कभी भी कर सकते है खासकर यदि आपका शरीर काफी थक चुका है और एनर्जी भी काफी कम लगती है तो श्रीखंड के एनर्जी बूस्टर का काम भी करता है।

4. श्रीखंड का सेवन करने से तनाव जैसी बड़ी समस्या भी दूर हो जाती है और एकदम रिलैक्स फील भी कराता है।

5.श्रीखंड में कैल्शियम होने से यह मोटापे को बढ़ने नहीं देता।  साथ ही साथ ड्राई फ्रूट्स के उपयोग होने से ये उच्चतम प्रोटीन युक्त आहार होता है ।

यह भी पढ़ें : स्वाद में लाजवाब चिकनाई रहित रोस्टेड चटपटे अप्पे ,एसीडिटी से भी करें बचाव click

श्रीखंड कब नुकसानदायक
श्रीखंड सेहत के लिए बहुत ही अच्छा माना गया है। यह कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है। श्रीखंड खाने से कोई नुकसान या हानि नहीं है। बस श्रीखंड उन्ही व्यक्ति के लिए सही है जो रूम के तापमान के हिसाब से इसका सेवन करते है। श्रीखंड का ज्यादा सेवन सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है।

श्रीखंड में पोषक तत्व
श्रीखंड स्वादिष्ट होने के साथ- साथ स्वस्थ के लिए फायदेमंद भी है। श्रीखंड में प्रोटीन, कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन बी 6, विटामिन 12 की प्रचुर मात्रा होती है।

श्रीखंड का सेवन करने वालों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है । साथ ही यह पाचन क्रिया बढ़ाने में भी यह सहायक है। । श्रीखंड में पोषक तत्वों की मात्रा जो निम्नलिखित है-

पोषक तत्व मात्रा / प्रति कप

ऊर्जा 394 कैलोरी,प्रोटीन 8.6 ग्राम,कार्बोहाइड्रेट 49.8 ग्राम,फाइबर 0 ग्रामवसा 13 ग्राम

कोलेस्ट्रॉल 32 मिलीग्राम,,विटामिन और मिनरल मात्रा,विटामिन ए 320 माइक्रोग्राम

विटामिन B -10.1 mg ,विटामिन B2- (0.2mg) विटामिन बी 3-( 0.2 mg)

विटामिन बी 6 – 1 mg ,विटामिन बी 9- 38 माइक्रोग्राम, विटामिन बी 12- 1 माइक्रोग्राम

विटामिन सी – 2 mg , विटामिन ई- 0 mg ,फोलिक एसिड (विटामिन बी 9) 11.2

माइक्रोग्राम, कैल्शियम 420mg ,लौह तत्व 0.4 mg ,मैग्नीशियम 38 mg

फास्फोरस 260 mg,सोडियम 38 mg,पोटेशियम 180 mg व जिंक 0 मिलीग्राम.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here